क्या है मार्शल लॉ ?



क्या है मार्शल लॉ ?

आज आप प्रतियोगी परीक्षाओं की दृष्टी से एक अत्यंत महत्वपूर्ण विषय को पढने जा रहें है। साथ साथ असाधारण परिस्थियों के लिए आप तैयार रह सकते हैं।
मार्शल लॉ का मतलब होता है – सैन्य शासन, मार्शल लॉ प्रभावित क्षेत्र में सभी साधारण कानून अमान्य हो जाते है। नए लागू कानून वे होते हैं जो सशस्त्र बलों पर लागू किये जाते हैं । मार्शल लॉ प्रभावित क्षेत्र में प्रशासन सेना के अंतर्गत कार्य करने लगता है। मार्शल लॉ लागू होने के समय सेना के पास इतनी शक्ति होती है की वह नागरिकों को किसी अपराध के दंड में मृत्यूदंड भी दे सकती है। सेना के पास जरूरी कार्य करने की सभी शक्तियाँ होती हैं।
जब देश में कहीं मार्शल लॉ लागू होता तो हमारे संविधान के भाग 3 के अनुच्छेद 34 के मूल अधिकारों पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है। सेना को मार्शल लॉ लागू क्षेत्र में कार्यवाही करने का अधिकार होता है और संसद प्रभावित क्षेत्र में दंड संबंधी कार्यों को वैधता प्रदान कर सकता है।
याद रखिये कि यह आपतकाल से भिन्न है, मार्शल लॉ असाधारण परिस्तिथियों में लागू किया जाता है जैसे – दंगे, अशांति, युद्ध, कानून उलंघन....

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

किस खेल में कितने खिलाड़ी?

संख्याओं में अल्प विराम (कोमा) कहाँ लगाएँ ?

भारतीयों के लिए हज यात्रा कोटे में इजाफा

NCERT की पुस्तकें

70 महत्वपूर्ण वैज्ञानिक उपकरणों के नाम और काम।