भारतीय मूल अधिकार कौन कौन से हैं ?



भारतीय मूल अधिकार कौन कौन से हैं ?

भारतीय संविधान में भाग 3 के अनुच्छेद 12 से 35 तक में मूल अधिकारों के बारे में बताया गया है। हमारे मूल अधिकार अमेरिका के मूल अधिकरों से प्रभावित हो कर बनाए गए हैं।
एक भाग में एक लंबी सूची होने के कारण इसे भारत का मैग्नाकार्टा भी कहा जाता है।
मूल अधिकार नागरिकों के हित में होते है क्योंकी ये लोकतंत्र को सुरक्षा प्रदान करते हैं।
प्रारंभ में हमें 7 मूल अधिकार प्रदान किए गए थे पर वर्तमान में इनकी संख्या 6 है –

1. समानता का अधिकार (इनका वर्णन अनुच्छेद 14 से 18 में है)
2. स्वतंत्रता का अधिकार (अनुच्छेद 19 से 22)
3. शोषण के विरूद्ध अधिकार (23 से 24)
4. धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार (25 से 28)
5. संस्कृति और शिक्षा संबंधी अधिकार (29 से 30)
6. संपत्ति का अधिकार (31)
7. संविधानिक उपचारों का अधिकार (32)

संपत्ति के अधिकार को 44 वें संविधान संशोधन द्वारा 1978 में हटा दिया गया व इसे भाग 12 के अनुच्छेद 300(क) में डाल दिया गया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

किस खेल में कितने खिलाड़ी?

संख्याओं में अल्प विराम (कोमा) कहाँ लगाएँ ?

भारतीयों के लिए हज यात्रा कोटे में इजाफा

NCERT की पुस्तकें

70 महत्वपूर्ण वैज्ञानिक उपकरणों के नाम और काम।